Intraday Trading Se Kaise Paise Kamaye | इंट्राडे में रोज 1000 रुपए पैसे कमाए

Intraday Trading Se Kaise Paise Kamaye? इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए शेयर मार्किट में आछे quality स्टॉक को चुने | इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए आप के द्वारा चुने गये स्टॉक में अगर कोई खास न्यूज़ ना हो तो मार्किट के मूड के हिसाब से short या फीर Long ट्रेड करे | Intraday ट्रेडिंग कर के बहुत सारे लोग बहुत पैसे कमा रहे है,और एसे भी बहुत सारे लोग होते हैं जो इंट्राडे ट्रेडिंग कर के बहुत सारे पैसे गबा र्रेहे हैं |

इंट्रा डे ट्रेडिंग करने से पहले आप को शेयर मार्किट के बारे में bit by bit ज्ञान होना जरुरी है | इंट्रा डे ट्रेडिंग में आप का experience और patience का होना जरुरी है | इंट्रा डे ट्रेडिंग कर के कुछ लोग आछे खासे पैसे कमा लेते है |

Experience इंट्रा डे ट्रेडर के इनकम को देख कर या फीर सूनी सुनाई बातों को ध्यान में रख कर बहुत सारे नए नए इंट्रा डे ट्रेडर share मार्किट में इंट्रा डे ट्रेडिंग करते है | बिना experience और बिना ज्ञान के हेतु नए इंट्रा डे ट्रेडर को भारी loss उठाना पड़ता है | नए इंट्रा डे ट्रेडर इंट्रा डे में loss जाने से वह लोग intraday ट्रेडिंग को छोड़ देते है |

आज के समय पर अधिकतर लोग इंट्रा डे ट्रेडिंग कर के बहुत सारे पैसे कमाते | नए आये हुए इंट्रा डे ट्रेडर इंट्रा डे ट्रेडिंग में पैसे कमाना थोड़ा मुस्कील होता है , क्यों की उनके पास इंट्रा डे ट्रेडिंग का experience कम रेहेता है | एक नए इंट्रा डे ट्रेडर को इंट्रा डे में ट्रेडिंग कर के कैसे पैसे कमाया जाता है? इंट्राडे ट्रेडिंग इन हिंदी उसके बारे में आज इस लेख में बिस्तार रूप से चर्चा करेंगे |

Intraday Trading kya Hai?(इंट्राडे ट्रेडिंग क्या है?)

Contents

शेयर मार्किट में पैसे लगा कर पैसे कमाने की बहुत सारे तरीके महजुद है | शेयर मार्किट मूल रूप से short-term,long-term और Intra day trading कर के पैसे कमाया जाता है | बहुत सारे लोग short-term,long-term में स्टॉक में पैसे लगा कर पैसे कमाते है |

शेयर मार्किट में Intraday Trading बोला जाए तो,share को पहले buy या sell किया जाता है,उस ओपन ट्रेड को sell या buy कर के ट्रेड को 1 दीन के भीतर कवर किया जाता उसे Intraday Trading कहा जाता है |

शेयर मार्किट में इंट्रा डे ट्रेडिंग के तहत same day share खरीद कर share को same day बेचना होता है | शेयर मार्किट बंद होने से पहले आप को आपनी Net position को clear करना पड़ता है | भारत के शेयर मार्किट यानी की NSE और BSE सोमवार से शुक्रवार 9:15 am से ले कर दोपहर 3:30 pm तक चलता है | शेयर मार्किट टाइम के भीतर आप इंट्राडे ट्रेडिंग टाइम में जितने चाहे इंट्रा डे ट्रेड कर सकते है |

Intraday Trading में हमेशा हर ट्रेड प्रॉफिट ले के आयेगा यह guarantee कोई भी नहीं दे सकता | शेयर मार्किट हमेशा fluctuate होता रेहेता है,शेयर मार्किट का धर्म हर बक्त fluctuate होना रेहेता है ,यह ऊपर निचे हो कर आगे या निचे हो कर आगे बढता है |

Intraday Trading में क्या क्या ट्रेड होता है?

इंडिया में मूल रूप से 3 तरह की सेगेमेंट में investment और इंट्रा डे ट्रेडिंग होती है |

  • Equity
  • Commodity
  • Currency

Equity

इक्विटी में बहुत सारे सगेमेंट रेहेता है,आप इन सभी सेगेमेंट में इन्वेस्ट और intraday ट्रेडिंग भी कर सकते है |

  • इक्विटी(स्टॉक)
  • Equity Derivatives
  • Index Derivatives

इक्विटी(स्टॉक)

भारतीय शेयर मार्किट यानी की National Stock Exchange of India Ltd (NSE) और BSE (Bombay Stock Exchange) को काहा जाता है | NSE और BSE पर बहुत सारे कंपनी आपनी कंपनी को listed करते है | कंपनी आपनी expansion project के कारण पैसे की जरुरत पड़ती है | पैसे की कमी को पूरा करने के लिए कंपनी NSE और BSE पर कंपनी listed हो कर public इशू निकाल कर पैसे इकठा करता है |

किसी आदमी को अगर किसी कंपनी के शेयर buy या sell करने के लिए किसी भी Register brokerage कंपनी में आपनी Demat Account खोल कर short-term,long-term invest या फीर intraday ट्रेडिंग कर सकता है | आप इक्विटी(स्टॉक) सगेमेंट पर 1 स्टॉक से लेकर आपनी डिपाजिट अमाउंट के तहत Leverage ले कर intraday ट्रेड कर सकते है |

बहुत सारे Brokerage houses आपनी आपनी हिसाब से intraday ट्रेडिंग के लिए आपनी ग्राहकों Leverage प्रदान करते है | शेयर मार्किट खुलने के कुछ ही समय के बाद Brokerage कंपनी आपनी ग्राहाकों Leverage प्रदान करते है यह Leverage/Margin केवल same day के लिए रेहेता है | अलग अलग कंपनी आपनी आपनी सहुलियत के हिसाब Square OFF time सेट करते है,यादातर brokerage कंपनी 3:00pm से 3:15 pm बीज Square OFF का time रखते है |

इंट्राडे ट्रेडिंग के लिए जब कोई ट्रेडर Leverage या Margin ले कर ट्रेड को ओपन करता है | ओपन किये गये ट्रेड को ट्रेडर आपनी मुनाफ़ा आने से Square OFF कर ले तो ठीक है,जितने मुनाफ़ा या लोस होता है ट्रेडर के अकाउंट में क्रेडिट या डेबिट हो जाता है | Leverage/Margin ले कर ट्रेडर ट्रेड ओपन कर के ट्रेड को खुला छोड़ दे तो brokerage house के तरफ से तये किये गये same day के समय पर Square OFF कर देते है |

इंट्र डे में अगर कोई ट्रेडर Leverage/Margin ना ले कर आपनी अकाउंट में जितने भी पैसे होंगे उस हिसाब से अगर कोई स्टॉक को short करता है | Short किये गये ट्रेड अगर ट्रेडर के द्वारा कवर नहीं किया गेया तो यह ट्रेड automatic Square-Off नहीं होगा |

कोई स्टॉक में आप अगर short selling किया गेया है स्टॉक auction में चला जाता है,उस auction में जितने rate पर auction होगी यही रेट ट्रेडर के अकाउंट पर डिपाजिट हो जाता है | इसी लिए ख़ास तोर पर जब नए ट्रेडर कोई स्टॉक को short करते है,शेयर मार्किट closed होने से पहले चाहे जो भी रेट हो उसे कवर कर लेना जरुरी है | अक्सर देखा गेया है,auction में जो स्टॉक चला जाता है ट्रेडर को बहुत लुकसान होता है |

Equity Derivatives

इंडियन शेयर मार्किट पर Equity Derivatives ट्रेड होता रेहेता है | Equity Derivatives यानी की किसी भी स्टॉक के features में कितनी price होगी अगले 1 महीने,2 महीने और 3 महीने में यह contract भी इंट्रा डे में ट्रेड होता है | आमतोर पर Equity Derivatives सगेमेंट में ट्रेडर आने वाले किसी भी महीने के contract buy या फीर sell कर सकता है |

उदाहरण के लिए आज June 17 है,Suresh July SBI के Futures short या long किया है, तो July के last Thursday तक Suresh SBI Futures को रख सकता है | हर महीने की लास्ट Thursday को Derivatives contract Expire होता है |

मान लिजीये Suresh 17 June को SBI Features @625 में short किया है,17 June से July लास्ट Thursday तक जितने भी ट्रेडिंग day है,हर ट्रेडिंग डे के भीतर SBI @625 से जितने निचे जाकर SBI Futures closed देगा उस प्रॉफिट Suresh के अकाउंट में क्रेडिट होता जाएगा | SBI Futures @625 के जितने ऊपर closed देगा उस अमाउंट Suresh के अकाउंट से पैसे डेबिट होता जाएगा |

जब तक Suresh SBI Futures को आपनी और से closed कर नही देगा | लिए गये SBI contact Futures के लास्ट Thursday तक रहेगा,बेसर्त Daily settlement के हिसाब से सुरेश के अकाउंट में पैसे महाजुद्द रहेना जरुरी है | अगर डेली सेटलमेंट के हिसाब से सुरेश के अकाउंट में पैसे नहीं होगी तब brokerage हाउस आपने और से ट्रेड को closed कर सकते है |

Index Derivatives

Index Derivatives में Nifty features ,Bank Nifty,Index Options के ट्रेड होता है | आप किसी भी सेगेमेंट में इंट्रा डे ट्रेड कर सकते है | Index Derivatives में आने वाले महीने के contract Index Futures ले सकते है | Index Derivatives भी हर महीने की लास्ट Thursday को contract Expire होता है |

Commodity

रोजाना इस्तिमाल करने वाले कमोडिटी को किसी exchange के द्वारा buy और sell किया जाता है | रोजाना उपयोग करने वाले कमोडिटी को आप किसी brokerage कंपनी में अकाउंट बना कर इंट्रा डे ट्रेडिंग कर सकते है |

Multi Commodity Exchange (MCX) यह मूल रूप से सोना,चांदी,क्रूड oil,नेचुरल गैस और बेस मेटल की ट्रेडिंग होता है | MCX सोमवार से शुक्रवार 10:00 Am से रात 11:55 Pm तक खोला रेहेता है |

National Commodity and Derivatives Exchange (NCDEX) यह एक agriculture बेस कमोडिटी exchange है | NCDEX पर मुख्य रूप से agriculture बेस कमोडिटी प्रोडक्ट ट्रेड होता है | आप किसी भी brokerage house से अकाउंट बना कर NCDEX में ट्रेड कर सकते है | यहाँ पर चना,जौ,गेहूं,ग्वार,सोयाबीन,जीरा आदी एसे सारे एग्रीकल्चर बेस कमोडिटी का ट्रेड होता है |

इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए – Intraday Trading Se Kaise Paise Kamaye?

इंट्रा डे ट्रेडिंग से पैसे कमाने के लिए आप को बहुत सारे तरीके और इंट्राडे ट्रेडिंग फार्मूला से काम करना पडेगा | शेयर मार्किट संबंधीत स्टॉक न्यूज़ को regularly watch करना पडेगा | इंट्राडे के लिए दो या तीन इंट्राडे ट्रेडिंग स्टॉक लिस्ट बना कर  उसी की पुरी जानकारी इकठा करना पडेगा | चुने गये स्टॉक की न्यूज़,chart pattern,स्टॉक की support level,Resistance level बारीकी से study करना पडेगा | आप की study जितनी निपुण होगी आप को उतनी ज्यादा इंट्राडे ट्रेडिंग में पैसे कमाने की मौका मिल सकता है |

Intraday Trading Se Kaise Paise Kamaye

इंट्राडे ट्रेडिंग टिप्स और कुछ रणनीति

इंट्राडे ट्रेडिंग कैसे करे? इंट्राडे ट्रेडिंग करने से पहले कुछ ख़ास बातों के ऊपर ध्यान देना बहुत ही जरुरी है | इन सभी बातों के ऊपर आप ध्यान देंगे तो इंट्राडे ट्रेडिंग में आप को जरुर सफलता मिल सकती है |

  • एक दीन में ज्यादा से ज्यादा 2 या 3 इंट्रा डे ट्रेड करे |
  • दो या तीन Liquidity स्टॉक को इंट्रा डे ट्रेड के लिए चुने |
  • स्टॉक में entry और आपनी मुनाफ़ा को सेट करे |
  • Stop Loss का उपयोग करे |
  • आपनी टारगेट मूल्य पूरा हो जाने से मुनाफ़ा बुक करे |
  • इंट्रा डे ट्रेडर से investor बनने से बचे |
  • शेयर मार्किट को चुनौती न दें |

एक दीन में ज्यादा से ज्यादा 2 या 3 इंट्रा डे ट्रेड करे

दीन में केवल 2 या 3 इंट्रा डे करना जरुरी है | अक्सर देखा जाता है जब इंट्रा डे ट्रेडर पहेले या दुसुरे ट्रेड में loss हो जाता है,उस loss को कवर करने के लिए दीन तमाम इंट्रा डे ट्रेड में लगे रहेते है | उसे इंट्रा डे ट्रेडर को ज्यादा से ज्यादा loss हो जाता है | आपनी loss को एक limit के भीतर रखना जरुरी है |

दो या तीन Liquidity स्टॉक को इंट्रा डे ट्रेड के लिए चुने

जो इंट्राडे ट्रेडिंग करना चाहाते हैं,उन लोगों जानते ही होंगे इंट्रा डे ट्रेडिंग में net position clear करना जरुरी है | आप के द्वारा execute हुए open position को शेयर मार्किट closed होने से पहले clear करना पडेगा | इंट्रा डे करने के लिए आप को Liquidity स्टॉक को हर बक्त चुनना पडेगा |

कम liquidity स्टॉक जब इंट्रा डे के लिए चुनते हैं,उस ओपन ट्रेड को Square off करने के लिए Order placing करना पड़ता है | Placing किये गये आर्डर execute हो में बहुत ही मुस्कील हो जाता है,क्यों की कम Liquidity स्टॉक में बहुत ही कम ट्रेडर्स ट्रेड करने के लिए आते है | हर बक्त Liquidity स्टॉक पर इंट्रा डे ट्रेड के लिए चुना बहुत ही जरुरी है |

स्टॉक में entry और आपनी मुनाफ़ा को सेट करे

इंट्राडे के लिए चुने गये स्टॉक को chart pattern के द्वारा स्टॉक के support Level,Resistance Level खुद analysis करे | शेयर मार्किट trend के है के हिसाब से अगर आप के चुने हुए share उलटा दिशा में move कर राहा है तो उसे छोड़ कर दुसुरे चुने हुए स्टॉक को चयन करे | जो स्टॉक मार्किट trend के हिसाब से चल राहा है उस पर ट्रेड करे |

मार्किट अगर up trend में है, चुने हुए स्टॉक के support Level पर entry करे और Resistance level पर Square Off करे | Market down trend में चल राहा है चुने गये स्टॉक को resistance level पर short करे और support level पर Square Off करे | इंट्रा डे ट्रेडिंग में हर बक्त आपनी मुनाफ़ा को सेट करे जो practical है यही मुनाफ़ा सेट करे और उस मुनाफ़ा आजाने से open ट्रेड को closed करे |

Stop Loss का उपयोग करे

इंट्राडे ट्रेडिंग में सबसे पहला और strong मूल मंत्र STOP LOSS है | इंट्रा डे ट्रेडिंग में येह Stop Loss tools का इस्तिमाल करना बहुत ही जरुरी है | Stop Loss उपयोग करने से आप को बहुत बड़े loss होने से बचा लेता है | आप एक नए इंट्रा डे ट्रेडर है तो 3:1 के हिसाब से Stop Loss रखना जरुरी है | 3:1 stop loss का मतलब अगर आप कोई स्टॉक पर 60 रुपए मुनाफ़ा रख कर exit करते है,तो आप को 20 रुपए loss हो जाने से exit हो जाना चाहिए |

आपनी टारगेट मूल्य पूरा हो जाने से मुनाफ़ा बुक करे

इंट्राडे ट्रेडिंग में हर बक्त एक practical टारगेट और छोटा सा टारगेट हमेसा सेट करना चाहिए | आपनी मुनाफ़ा टारगेट आजाने से आपनी ट्रेड को closed कर सकते है | आपनी मुनाफ़ा टारगेट पर Stop Loss को धीरे धीरे बढ़ाना चाहिए | किसी भी हालत पर आपनी मुनाफ़ा को जाया होनी नहीं चाहिए मुनाफ़ा को बुक करना चाहिए |

इंट्रा डे ट्रेडर से investor बनने से बचे

अक्सर देखा जाता है,नए नए इंट्रा डे ट्रेडर बहुत बार investor बन जाते है | एसे क्यों होता है? जब नए इंट्रा डे ट्रेडर कोई ट्रेड को ओपन करता है | ओपन किये गये ट्रेड पर उनको loss होता रेहेता है,उस loss को देखते हुए नए इंट्रा डे ट्रेडर investor के रूप में बदल जाते है |

आप के द्वारा कीये गये ट्रेड पर Stop Loss लगा कर छोड़ देना चाहिए | Stop loss triggered हो जाता है,हो जाने दो अगले दीन के लिए तेयारी करे | आप के ट्रेड आप के विरूद्ध जा राहा तो उस दीन के लिए आप इंट्रा डे को quite कर देना चाहिए | शेयर मार्किट कहीं चला नहीं जाएगा अगर आप के पास पूंजी रहेगा तो अगले दीन आप इंट्राडे ट्रेड कर सकते है |

शेयर मार्किट को चुनौती न दें

शेयर मार्किट को कोई भी आज तक 100% भविष्यवाणी कर नहीं सकता | शेयर मार्किट उतार-चढ़ाव हो के move करता रेहेता है | आप आपनी research,chart pattern analysed के द्वारा जो रिजल्ट स्टॉक के बारे में निकालते है |

Research,Chart pattern के रिजल्ट के विरुद्ध अगर स्टॉक मूल्य नहीं बढ़ती या फीर नहीं गिरती है,तो stop loss लगा कर बेच देना अकल मंदी की बात है | आप आपनी emotion के चलते हुए उस स्टॉक को आपनी टारगेट price पर wait नहीं करना चाहिए | ट्रेड को ओपन कर के नहीं छोड़ना चाहिए,जिस से आप के घाटा बड सकता है |

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न – Frequently Asked Questions (FAQs)

क्या इंट्राडे ट्रेडिंग लाभदायक है?

इंट्राडे ट्रेडिंग उस इंट्राडे ट्रेडर के लिए निश्चित लाभदायक जो इंट्राडे को सही तरीके से ट्रेड करते है | जो ट्रेडर आपनी emotion,प्रॉफिट,stop loss को सही तरीके उपयोग करते है उनके लिए इंट्राडे trading लाभदायक है |

क्या मैं अगले दिन इंट्राडे शेयर बेच सकता हूं?

आप अगर delivery तहत स्टॉक को खरीदते हैं तो आप उस स्टॉक को अगले दीन में बेच सकते और same day उस स्टॉक खरीद कर दोबारे आपनी portfolio में रख सकते है | उस ट्रेड में जो भी प्रॉफिट या loss होगा आप के अकाउंट पर डिपाजिट या फीर डेबिट हो जाएगा |

क्या मैं इंट्राडे में बिना खरीदे शेयर बेच सकता हूं?

आप किसी इक्विटी आपने पास यानी उस इक्विटी के स्वामित्व ना होते हुए भी पहले मार्किट में बेच सकते है | यह short selling केवल same day के लिए होता है,मार्किट closed होने से पहले आप को उस ट्रेड को कवर कर के closed करना जरुरी है |

और भी आर्टिकल पढ़े

Short Selling क्या है? शॉर्ट सेलिंग कैसे करे हिंदी में जाने

What is Share Market in Hindi – नए निवेशक कैसे निवेश करें |

Nivesh kyon Jaruree Hai ? निवेश कैसे करें Stocks, Gold ETF

आशा करता हूँ,इंट्राडे ट्रेडिंग से पैसे कैसे कमाए? इंट्राडे ट्रेडिंग टिप्स और कुछ रणनीति ये सब इसी लेख में समझने के ये छोटा सा प्रयास किया गया है | आप लोगो को येह लेख जरुर पसंद आया होगा. आप के मन में इस आर्टिकल बारे में कुछ भी doubts है ,या फिर लेख में और सुधर किया जासकता है तो कृपया कर के नीचे comment करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here