Motherboard Kya Hai? और कैसे काम करता है पूरी जानकारी हिंदी में

Motherboard Kya Hai? मदरबोर्ड क्‍या हैं? जो लोग कम्प्यूटर के इस्तेमाल कर ते है. यह लोग मदरबोर्ड के बारे में थोड़ा बहुत या बहुत ज्यादाजानते हैं.

आप में से बहुत सारे लोगो कंहीना केहीं मदरबोर्ड का नाम पेहेले से सूना होगा. ये मदरबोर्ड क्या है? ये कैसे काम करता है. ये सब के बारे में। आज हम इस आर्टिकल में बिस्तार रूप से चर्चा करेंगे.

कम्प्यूटर के केबिनेट case अंदर देखें होंगे. कम्प्यूटर के बहुत सारे पार्ट्स एक कम्पोनेट से जुड़े रहेते है. उस कम्पोनेट को मदरबोर्ड कहा जाता है.कम्प्यूटर के अंदर जितने भी पार्ट्स होते हैं. उन सभी पार्ट्स का काम अलग अलग होता है. ये सारे पार्ट्स मदरबोर्ड से संवाद कर के अपना अपना काम करते है.

What is Motherboard in Hindi – मदरबोर्ड क्‍या हैं

Motherboard meaning मदरबोर्ड कम्प्यूटर हार्डवेयर का एक जंत्र है। जो कम्प्यूटर का एक मुख्य आंग है. इस के बिना कम्प्यूटर चलना नामुकिन है. इसीलिए मदरबोर्ड को कम्प्यूटर का बैकबोन माना जाता है. मदरबोर्ड एक PCB(Printed Circuit Board) होता है. कम्प्यूटर पार्ट्स जैसे की CPU,RAM,HARD DISK,MONITOR MOUSE,KEY BOARD इत्यादी जो Dedicated पोर्ट्स के माध्यम से जुड़े रेहते हैं. जो कम्प्यूटर के हर पार्ट्स को पकड़ कर रखता है. मदरबोर्ड इन पार्ट्स को बिजली की आपूर्ति करती है। और madar board से पार्ट्स के बिच संचार का स्थापना करती है. जिससे कम्प्यूटर सरलता से कार्य कर सके.

Motherboard Kya Hai

Motherboard Parts and Functions – मदरबोर्ड के कार्य

Component’s Hub मदरबोर्ड कम्प्यूटर का बैकबोन है. इसके बिना कम्प्यूटर कुछ नहीं एक खाली डिब्बा है. इसमें CPU,RAM,HARD DISK को स्थापित किया जाता है.

External Peripherals

उपयोगकर्ता के सुबिधा के लिए बाहारि उपकरणों को कम्प्यूटर से जोड़ने के लिए। मदरबोर्ड में expansion slots लगे होते है. मदरबोर्ड expansion slots को उपलब्ध करबाता है. ताकि नये उपकरण को इनस्टॉल किया जासके. इस स्लॉट्स के जरिये उपयोगकर्ता बाहारि उपकरण को कम्प्यूटर से लगा सकता है.

Power Supply

कम्प्यूटर में लगे हुए बिभिन्न पार्ट्स को ठीक ढंग से निरंतर बिजली आपूर्ति करना मदरबोर्ड का काम है.

BUS

BUS कम्प्यूटर का एक ऐसा संचार प्रणाली है। जिस से कम्प्यूटर के अंदर जो घटकों होते हैं उनके बिच डाटा का हस्तान्तर करना। BUS कम्प्यूटर के अन्य सभी घटकों जैसे की CPU ,memory,इनपुट आउटपुट जंत्र को जोड़ता है.

Data Flow

मदरबोर्ड एक communication hub की तरह काम करता है. जिसके द्वारा सारा Peripherals कम्पोनेट संजोग होते हैं. मदरबोर्ड सुनिश्चित करता है की सारे Peripherals कम्पोनेट आपस में ठीक ढंग से सुचारु रूप से communicate कर सके।

BIOS

मदरबोर्ड की Read Only Memory चिप में एक प्रक्रिया जंत्र सामग्री संगृहीत कर के रखती है. जिसमें कम्प्यूटर की
इनपुट /आउटपुट BIOS होता है. जब कम्प्यूटर को on करते हैं। तो उस बक्त BOIS ही कम्प्यूटर सिस्टम को स्टार्ट करने की प्रोसेस को पूरा करता है.

मदरबोर्ड का चयन कैसे करे ?

मदरबोर्ड कम्प्यूटर का मुख्य अंग होता है. कम्प्यूटर के भीतर जितने भी कंपोनेट है। उन सभी कंपोनेट को मदरबोर्ड पकड़ कर रखती है। मदरबोर्ड के द्वारा सभी कंपोनेट को अनिबरत बिजिली की आपूर्ति करता है. इसके साथ साथ मदरबोर्ड में जितने भी जंत्र लगा हुआ है। इन सभी जंत्र को आपस में संवाद करबाता है.

मदरबोर्ड का आकर और Layout को Form factor कहा जाता है. Form factor के मद्दत से ये तय किया जाता है की मदरबोर्ड का design कैसा हो सकता है.

मदरबोर्ड बहुत प्रकार के आता है. आवश्यकता के अनुसार मदरबोर्ड के साइज ,design,Cases,Power supply बनाय जाता है. मदरबोर्ड सभी प्रकार की components को सहयोग नहीं करती। इसीलिए मदरबोर्ड चयन करते समय बहुत ही सोच बिचार के साथ चुनाब करना चाहिये.

ताकि आप को भबिष्य में कुछ असुबिधा ना होने पाये .मदरबोर्ड विभिन्न प्रकार का होता है.आप जिस काम के लिए Computer ले रहें है .उसी काम के लिए motherboard ठीक है या नहीं आच्छी तरह से चेक करना चाहिए उसका साइज़ कैसा है design हर चीज़ को चेक कर लेना चाहिए .

Motherboard Components – मदरबोर्ड के मुख्य कंपोनेट

Power Connectors

कम्प्यूटर में CPU (Central Processing Unit) और कम्प्यूटर लगे हुए दूसरे पार्ट्स को Power Connectors द्वारे बिजली की निरंतर सप्लाई रहेता है.

CPU Socket

CPU Socket ही प्रोसेसर को मदरबोर्ड से इनस्टॉल करने में मदत करता है. CPU अधिक मात्रा में गर्मी पैदा
करता है. इस सॉकेट के ऊपर एक हीट शिंक और फैन लगा रेहता है। जो CPU को गर्मी से थोड़ा ठंडा किआ जा
सके. प्रोसेसर जीतीनी स्पीड होगी उतीनी ही कम्प्यूटर का परिणाम आच्छा रेहता है. ये प्रोसेसर को पावर आपूर्ति करता है। साथ साथ ये कम्प्यूटर के डाटा को अन्य कम्पोनेट को ट्रांसफर करता है.

BIOS

BOIS मदरबोर्ड में लगने बाला एक पार्ट्स है. इस कम्पोनेट में इंटीग्रेटेड चिप लगा हुआ है जो Read Only Memory चिप में एक प्रक्रिया जंत्र सामग्री संगृहीत कर के रखती है. जिसमें कम्प्यूटर की इनपुट /आउटपुट BIOS होता है.

RAM

मदरबोर्ड में RAM(Random access memory) एक जरूरी अंश है. RAM एक temporary मेमोरी होता है. कम्प्यूटर जबतक चालू रेहेता है तब तक इस में डाटा सेव हो के रहता है. जब कम्प्यूटर बंद हो जाता है सभी डाटा उस से चला जाता है.

RAM Kya Hai RAM के काम क्या है पूरी जानकारी हिंदी में

CPU क्या है कैसे काम करता है जानकारी हिंदी में

Input/Output ports

उपयोगकर्ता कम्प्यूटर को इनपुट देने के लिए एक माध्यम की जरुरत पड़ती है। उस इनपुट माध्यम को मदरबोर्ड से जोड़ने के लिए पोर्ट्स दिये जाते हैं. इस इनपुट पोर्ट्स के माध्यम से keyboard,mouse,usb कम्पोनेट आदि से उपयोगकर्ता Computer को इनपुट देता है. उस इनपुट का प्रोसेस हो के जो परिराम आता है. उस परिणाम को दिखाने के लिए आउटपुट पोर्ट की जरुरत पड़ती है। उस आउटपुट पोर्ट्स में monitor ,speeker ,प्रिंटर,माइक्रोफोन, इत्यदि आउटपुट पोर्ट्स में लगाने से उपयोगकर्ता को परिणाम मिल पाती है.

CMOS Battery

कम्प्यूटर के Boot process को स्टार्ट करने के लिए power की जरुरत पड़ती है। इसी लिए एक Battery BOIS में
लगती है. उस Battery को CMOS Battery कहा जाता है. उस Battery के द्वारा कम्प्यूटर में system time और ,घंटा ये सब मैनेज CMOS Battery द्वारा किआ जाता है.

SATA Connector

SATA हार्ड डिस्क और ऑप्टिकल डिस्क को SATA Connector द्वारा मदरबोर्ड से संजोग किया जाता है.

USB Port

कम्प्यूटर से इनपुट /आउटपुट परिणाम के लिए USB (Universal Serial Bus) किआ जाता है. USB के द्वारा उपयोगकर्ता mouse,keyboard,external Hard drive इत्यादि USB पोर्ट के द्वारा ब्यबहार में ला जासकता है.

External Ports

एक कम्प्यूटर से दुसरे कम्प्पूटर को जोड़ने के लिए External Ports की जरुरत होती है. External Ports के द्वारा एक कम्प्यूटर को दुसरे कम्प्यूटर को network cable से जोड़ा जाता है.

Display Connector

Display Connector के द्वारा कम्प्यूटर की मदरबोर्ड से कम्प्यूटर के मॉनिटर जोड़ा जाता है. तब जाके उपयोगकर्ता
कम्प्यूटर के आउटपुट प्रोसेस का परिणाम को मॉनिटर के द्वारा डेक सकता है.

North Bridge Chipset

ये एक micro chip होता है. इस का काम है PCI device ,RAM ,Hard Disk को प्रबंधन करना। ये सीधे CPU के साथ जुड़ा रहेता है.

South Bridge Chipset

कम्प्यूटर के सभी इनपुट / आउटपुट को नियंत्रण करने के लिए काम करता है. इसे IC Chip भी कहा जाता है। जो
North Bridge से सीधे जुड़ा रहेता है.

मदरबोर्ड के प्रकार- Types of Motherboard

कम्प्यूटर के विकास के साथ साथ मदरबोर्ड का विकास पर्याक्रम से विकास होता रेहता। और आगे भी होता रेहेगा।
आज विभिन्न प्रकार का मदरबोर्ड है. जो एक दुसरे से अलग है ।

AT Motherboard

कम्प्यूटर में सबसे पहेले AT मदरबोर्ड का इस्तिमाल किआ गया था. जो Advance Technology मदरबोर्ड में नये टेक्निक से बिकशित power connector को लगाया गया था.

ATX Motherboard

Intel द्वारा ATX Motherboard को साल 1990s प्रस्तुत किया गया था। जो पहले मदरबोर्ड की तुलना से आकर में छोटा था. ATX Motherboard बहुत सारे बदलबा कर के प्रस्तुत कया गये था.मदरबोर्ड और बिजिली आपूर्ति जैसे बड़े बदलाब किआ गया था.

Mini ITX Motherboard

ये किसी भी पारम्परिक मदरबोर्ड से बहुत ही छोटा है. छोटे आकर और fan-less के कारण ये पारम्परिक मदरबोर्ड से कम बिजिली की खफत उसमें होती है.इस के अलाबा बहुत सारे मदरबोर्ड है उपलध है.

Operating System क्या है? कैसे काम करता है पूरी जानकारी हिंदी में

Hard Disk क्या है? हार्ड डिस्क का कार्य, पूरी जानकारी हिंदी में

आशा करता हूँ Motherboard Kya Hai ? कैसे काम करता है. मदरबोर्ड के कार्य? . मदरबोर्ड के मुख्य कंपोनेट . ये सब इसी article में समझने के ये छोटा सा प्रयास किया गया है. जो आप लोगो को पसंद आया होगा. आप के मन में इस आर्टिकल बारे में कुछ भी doubts है .या फिर article में और सुधर किया जासकता है.
तो कृपया कर के नीचे comment करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here