OTP क्या है? ओटीपी फुल फॉर्म क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में

OTP क्या है? आज की डिजिटल दुनिया में सुरक्षा बहुत बड़ी चीज है.हम लोग अक्सर online शौपिंग करते हैं.Sensitive मेल Id से मेल भेजते रहेते हैं.Sensitive मेल id का उपयोग करते हैं .जिस में हमारा बहुत सारे confidential डाटा रेहेता है.जिस में sensitive कार्य करने के समय पे एक ओटीपी हमारे register मोबाइल या register मेल id को एक OTP आता है यह ओटीपी क्या है? ओटीपी का काम क्या है बहुत सारे लोग ओटीपी को बहुत हलके में लेतें हैं .

OTP क्या है ? ओटीपी का मतलब क्या है? ओटीपी कैसे काम करता है .OTP full form ओटीपी किउं डिजिटल दुनिया में जरुरी है बहुत कम लोगों को पता है. आज हम इस लेख में बिस्तार रूप से ओटीपी क्या है इसका मतलब क्या है इसके बारे में चर्चा करेंगे .

OTP (One Time Password) क्या है?

Technology के विकास के कारण लोगों का काम बहुत आसान सहज और सरल कर दिया है.Technology द्वारा online में काम काज सहज और सरल के कारण लोगों ने online के ऊपर जादा आकर्षीत हो रहें हैं.लोगों ने जादातर काम online में कर रहें हैं.

Online में काम काज करने की जैसे सुबिधा है और कहीं नहीं है.थोड़ा सा साबधानी बरतने से हम आपना बहुत सारे personal डाटा को सुरक्षित कर पायेंगे.ओटीपी technology द्वारा उत्पन्न किया गेया numeric या फीर alpha-numeric का एक code होता है .

बहुत sensitive online money देन-लेन में कुछ ही समय लग भग 30 second से 60 second तक बैधता रेहेता है .उस समय के बाद ओटीपी आपने आप expire हो जाता है. जो किसी काम नहीं रेहेता .online पैसे की
देन-लेन को छोड़ कर एसे भी बहुत सारे जगह पर ओटीपी की उपयोग किया जाता है .

OTP

जैसे की email ,Adhaar कार्ड निकाल ते समय ,ATM में PIN generate के वक़्त ,ATM में मोबाइल नंबर change करने के time एसे बहुत सारे जगह है. जाहाँ ओटीपी के बैधता कंपनी , institution ,आपनी आपनी rules एंड रेगुलेशन के हिस्साब से रखते हैं.OTP (One Time Password) सिंगल use पासवर्ड होता है.उपयोगकर्ता के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक numeric या फीर alpha-numeric code भेजा जाता है .जब उपयोगकर्ता इंटरनेट बैंकिंग ,online money देन-लेन करता है एसे बहुत सारे पोर्टल होतें हैं जो उपयोगकर्ता की प्रामाणिकता सुनीस्चित और सुरक्षित रखने के लिए ओटीपी का उपयोग किया जाता है.

OTP full form क्या है?

OTP का फुल फॉर्म One Time Password है . 

हिंदी में OTP meaning का मतलब क्या होता है?

हम लोग प्राय जानतें हैं One Time Password एक इंग्लिश शब्द है.आमतोर पे ओटीपी meaning का मतलब हिंदी में एक ही बार इस्तिमाल किये जाने बाला पासवर्ड है.यह अंक में या शब्द में या फीर दोनों को मिलाकर एक ओटीपी हो सकता है.यह पंजीकृत मोबाइल नंबर या फीर पंजीकृत email पर उपयोगकर्ता का प्रामाणिकता और संरक्षित रखने के लिए भेजा जाता है.

यह एक ही बार में उपयोग में आता है.उसकी अबाधी अगर ख़तम हो जाता है . तो उपयोगकर्ता दोबारा resend ओटीपी करने के बाद एक नया ओटीपी भेजी जाती है.यह हर बार भेजे जाने बाला ओटीपी अलग अलग का होता है .OTP उपयोगकर्ता के लेन-देन के सत्यापन के लिए randomly ओटीपी generate होता रेहेता है.उपयोगकर्ता के पंजीकृत मोबाइल नंबर या फीर email पर भेजा जाता है .

जिस के द्वारा उपयोगकर्ता का प्रामाणिकता को सुनीस्चित करता है और उपयोगकर्ता को सुरक्षित रखता है.अनधिकृत लोगों के द्वारा दुबारा ओटीपी उपयोग नहीं किया जा सके .इस के लिए OTP के उपयोग किया जाता है.

One Time Password कैसे काम करता है?

उपयोगकर्ता की पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाता हैं.यह उपयोगकर्ता के सत्यापन को स्थापित करने के लिए मदद करता है.यह ओटीपी एक समय सीमा के अन्दर काम करता है.उसके बाद यह काम नहीं करता .जब उपयोगकर्ता ओटीपी का उपयोग करलेता है उसका काम ख़तम हो जाता है.

एक बार उपयोग करने के बाद यह दुसुरी बार इस्तिमाल में नहीं आता है.यह एक ही बार उपयोग में आता है .इसिलए One Time Password में जादा जोखीम नहीं है.यह नोर्माल पासवर्ड से जादा सुरक्षित है.Randomly नुमेरिक ,अल्फा -नुमेरिक यह सब ओटीपी generate होता रेहेता है.

OTP का उपयोग काहाँ काहाँ पर होता है?

  • Net Banking
  • E-Commerce
  • Social Media Platform
  • ATM पिन change करते समय ओटीपी उपयोग में आता है |
  • ATM पिन generate करते समय ओटीपी का उपयोग किया जाता है|
  • Adhaar OTP कार्ड डाउनलोड करते समय उपयोग किया जाता है|
  • Adhaar कार्ड update करने के लिए Adhaar OTP उपयोग किया जाता है|
  • Email id बनाने के समय पर यह उपयोग में आता है|

Net Banking नेट बैंकिंग

उपयोगकर्ता जब online शौपिंग करता है ,money ट्रान्सफर करता है,जिस भी प्लेटफार्म पर online पैसा के लेन-देन होता है .उस प्लेटफार्म पर जरुर उपयोगकर्ता के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी का उपयोग किया जाता है.बिना ओटीपी  के कोई भी online financial transaction संभव नहीं है.

जब उपयोगकर्ता कोई भी online पैसा भेजता है या फीर payment करता है उसकी मोबाइल नंबर ओटीपी आता है .जो कुछ समय की अबाधी के लिए होता है .यह ओटीपी नंबर नहीं डालने से आप का payment transaction या फीर money transfer नहीं होती .

E-Commerce

आज कल online शौपिंग का trend बहुत जोर शोर से इंडिया में चल राहा है .बहुत सारे लोग online शौपिंग करते होंगे .बहुत सारे लोगinstant payment करदेते हैं .उन लोगों को आछी तरह से पता है ओटीपी क्या है उसका काम क्या है .Instant payment में आप जो सामान खरीदते हैं उस सामान का payment तुरंत करदेना चाहातें हैं .इसके लिए आप को इंटरनेट बैंकिंग या फीर डेबिट कार्ड से payment करते हैं .उस transaction के दौरान आप के मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आता है उस नंबर को नहीं डालने से आप का transaction आप का payment successful नहीं होता .

Social Media Platform

आज काल Social Media बहुत popular है .हर कोई Social Media Platform में आपना एक अकाउंट बना कर आपनी social activities को update करते रहेते हैं.जब आप social media पर अकाउंट बनाते हैं.जैसे की Facebook,Twitter,Whatsapp उस वक़्त आप का address फ़ोन नंबर age ,gender etc जब भर कर complete करदेते हैं .उसके बाद आप के मोबाइल नंबर पर एक otp आता है उस ओटीपी जब तक नहीं डालते तब तक आप का अकाउंट active नहीं होता .

ATM पिन change करते समय OTP उपयोग में आता है

जब आप का डेबिट या फीर क्रेडिट का पिन change करते हैं उस बक्त आप के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आता है .जो आप के प्रामाणिकता को सुनीस्चित और सुरक्षित करने के लिए आप के पंजीकृत मोबाइल नंबर एक ओटीपी नंबर भेजा जाता है .उस नंबर को जब आप डालेंगे तब जाकर आप के पिन change हो पाता है.

ATM पिन generate करते समय OTP का उपयोग किया जाता है

आज के डिजिटल समय पर नया ATM कार्ड आप के नाम इशू होता है .केबल ATM कार्ड आप के present address पर पोस्टल के माध्यम पहंच जाता है .पहेले ATM कार्ड के सहित password प्रिंट हो कर आता था सुरक्षा के कारण आज कल बैंक अकाउंट होल्डर को केबल ATM का कार्ड घर पर आता है . जो आप को ATM machine या फीर net banking के द्वारा पिन को generate करना पड़ता है.पिन generate करने के समय पर आप के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आता है .उस नंबर को जब तक नहीं डालोगी आप के पिन generate नहीं होगा .

Adhaar OTP कार्ड डाउनलोड करते समय उपयोग किया जाता है

Adhaar कार्ड को official website में जाकर डाउनलोड करने के लिए जातें हैं उस बक्त आप के पंजीकृत मोबाइल नंबर एक ओटीपी आता है .उस ओटीपी नंबर को जब तक नहीं डालोगे तब तक आप के Adhaar कार्ड डाउनलोड नहीं हो पायेगा .

Adhaar कार्ड update करने के लिए Aadhaar OTP का उपयोग किया जाता है

अगर आप के Adhaar कार्ड में कोई correction करना चाहातें हैं ,जैसे की address ,phone नंबर Date ऑफ़ Birth डालना है .उसके लिए आप के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आता है .उस ओटीपी नंबर जब तक नहीं डालोगे तब तक आप के Adhaar कार्ड correction नहीं होगा .

Email id बनाने के समय पर यह उपयोग में आता है

जब आप एक नया Email अकाउंट खोलते हैं .जब आप name ,address ,पता ,स्टेट,country ,मोबाइल नंबर ,फिल-up करने बाद आप को एक ओटीपी आता है उस ओटीपी को डालने के बाद आप के email अकाउंट active हो पाता है.

Resend otp क्या है?

कोई कारण हेतु बास्तबिक user के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी नहीं पहंच पाती है .तो एक option रेहेता है दोबारा Resend ओटीपी के आप्शन को क्लिक कर के दोबारा एक ओटीपी माँगा जाता है .जो randomly generated code बास्तबिक यूजर के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर भेजा जाता है या फीर मेल address में भेजा जाता है .उसे Resend ओटीपी कहा जाता है.

ओटीपी प्राप्त नहीं कर रहा है Not Receiving otp

अगर आप के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर साधरण पाठ को ग्रहण और भेज सकते हैं .तो इसका मतलब है आप की पंजीकृत मोबाइल नंबर हमारे सिस्टम से ठीक तरह से configure है .समस्या एक विशिष्ट app या फीर website पर ओटीपी भेजेने में है.इस तरह problem कोई बार केई लोगों के साथ होता है.

OTP के फायेदे क्या है?

इंटरनेट की दुनिया में आपनी personal डाटा को सुरक्षित रखना बहुत जरुरी है .यूजर के प्रामाणिकता सुनीस्चित हो जाता है .केबल सही उपयोगकर्ता ही सही अकाउंट को खोल सकता है .ओटीपी केबल सही यूजर के पंजीकृत मोबाइल नंबर को ही जाता है .सही user केबल ओटीपी का code डाल कर अकाउंट खोल के अकाउंट कार्य करपाती है.जिस से अकाउंट सेफ रेहेति है.Online finical transaction में एक गलती आप के अकाउंट खाली हो जाती है.

ओटीपी के द्वारा online पैसा के लेन-देन बहुत ही सुरक्षित रेहेता है.पासवर्ड चोरी होने के या फीर पासवर्ड क्रैक होने की चांस रेहेता है .लेकिन ओटीपी चोरी या फीर क्रैक होने की कोई गुन्जाईस नहीं रेहेति है .येह बहुत ही सेफ और सुरक्षित है .यह एक समय के अबाधी के अन्दर काम करता है .यह एक ही बार कार्य करता है .

जिस से कोई दुसुरे आदमी अलग जगा से अलग कंप्यूटर ,मोबाइल से अकाउंट में कार्य नहीं कर सकती है.जब online पैसे की लेन-देन आता है .उस बक्त अकाउंट होल्डर के पंजीकृत मोबाइल नंबर को एक ओटीपी का code भेजे जातें है जो अनुमति ओटीपी के रूप से होता है .

जब तक ओटीपी का code नहीं डालते तबतक online पैसे का लेन-देन नहीं होता है.इसलिए आज के समय पे ओटीपी उपयोग करना बहुत ही जरुरी है.कोई भी अनधिकृत user आप के email ,social अकाउंट ,और भी बहुत सारे जगा है जो आप के अकाउंट को manipulate करसकता है .जिस से आप को भारी लुक्शान हो सकता है .यह सब केबल ओटीपी के द्वारा यूजर के प्रामाणिकता को सुनीस्चित हो पाता है.जिसे से बास्तबिक user का अकाउंट सुरक्षित रेहेपाता है.

 

आशा करता हूँ OTP क्या है? OTP full form ये सब इसी article में समझने के ये छोटा सा प्रयास किया गया है. आपने अपना बहुमूल्य समय इस लेख को पढ़ने में दिया इसके लिए आप सब का बहुत बहुत धन्यबाद .आप के मन में इस आर्टिकल बारे में कुछ भी doubts है या फिर article में और कुछ सुधर किया जासकता है.

तो कृपया कर के नीचे comment करे. अगर आप को OTP(One Time Password ) क्या है? Otp full form लेख को पसंद आया या फीर हमारे लेख से कुछ सिखने को मिला तो तब कृपया कर के हमारे लेख को आप के फ्रेंड circle social नेटवर्क साईट पर आपने फ्रेंड्स के साथ Facebook ,Twitter ,Pinterest Social media साईट पर share करे .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here