RAM Kya Hai ? RAM के काम क्या ? है पूरी जानकारी हिंदी में

RAM Kya Hai ? ये शब्द आप में से बहुत से लोग सुने होंगे . आज के डिजिटल युग में डिजिटल डिवाइस के ऊपर मनुष्य बहुत ही निर्भरशील हो गयी है. जब आप का कोई दोस्त नये मोबाइल या फिर कम्प्यूटर लाया हूँ बोलता है. तुरंत आप आपने दोस्त को सवाल करते है।उसकी RAM क्या है?.

या फिर आप जब कोई नये मोबाइल लाने के लिए दूकान को जाते हैं.सब से पेहेले RAM के बारे में सवाल करते है. इस सवाल कीऊं मन में आता है. इस सवाल का महत्वा कीऊं ईतिनी ज्यादा है. आप में से कुछ लोग RAM के बारे में जानते हैं. ये क्या काम करता है,ये कैसे काम करता है,उसका महत्वा क्या है. ये कितने प्रकार है. आज हम इस सबके बारे में इस आर्टिकल में बिस्तार रूप से चर्चा करेंगे.

RAM क्या है ?

RAM(Random Access Memory) कम्प्यूटर या मोबाइल का स्मृति को रहेना का एक रूप होता है. ये पर्याक्रम से पढ़ा और लिखा जासकता है. इसको Direct Access Memory भी कहाजाता है. ये कम्प्यूटर में कम जगह लेता है। secondary memory के तुलना से। RAM आमतौर पे अस्थिर मेमोरी होती है. जबतक कम्प्यूटर चालू रेहता है तो RAM में सेव होके रेहता है। जब बंद होजाता है तो संगृहीत जानकारी खो जाती है.

RAM कैसे काम करती  है?

RAM एक प्रकार अस्थिर मेमोरी है. जब तक कम्प्यूटर चालू रेहता है। तब तक RAM में डाटा सेव हो के रेहता। जब
कम्प्यूटर बंद हो जाता है तो RAM से सभी जानकारी खाली हो जाता है. इसी लिए इसे टेम्पोरेरी मेमोरी कहा जाता है. जब आप का कम्प्यूटर Boot होता है। BOIS हार्ड डिस्क के अंदर OS (Operating System ) ढूढ़ता रेहता है.

और OS को हार्ड डिस्क से बहार निकलाता है। और RAM में डालता है. तब जाके कम्प्यूटर चलता है. RAM(Random Access memory) की कैपेसिटी जीतिनी ज्यादा होगी। उतीनी ज्यादा applictions खोला जासकता है. और आप की डिवाइस मोबाइल सुचारु रूप से चल पायेगी। और मोबाइल हैंग नहीं होगी.

RAM का काम क्या है.

उपयोगकर्ता जब मोबाइल में गाना या मूवी देखता है. गाना या फिर मूवीज ये मेमोरी कार्ड में सेव
हो के रेहता है. जिसको सेकेंडरी मेमोरी कहाजाता है। उस पे गाना ,मूवीज सेव हो के रेहता है. जब उपयोगकर्ता गाना या
फिर मूवी देखता है.

CPU पहले मेमोरी कार्ड से गाना या मूवी ढूंढ के निक्लता और RAM में डालता है. तब जाके उपयोगकर्ता मूवी या फिर गाना देख पाता है. जब जब उपयोगकर्ता जिस जिस चीज को देखने की इच्छा करता है. तब तब cpu मेमोरी कार्ड से उस चीज को निकाल कर RAM में डालता है। ये क्रम से ये चक्र चल ता रेहता है.

आप ने कभी कभी देखे होंगे। मोबाइल पे ज्यादा ऍप्लिकेशन्स खोले जाने से सिस्टम मेमोरी फुल ऐसा मेसेज दिखाता है. ऐसा कियूं दिखाई देता है. आप के मन में ये सवाल आता होगा. ऐसा इसलिए होता है. जब उपयोगकर्ता यानी की आप एक समय पे बहुत सारी ऍप्लिकेशन्स एक साथ खोल दीये जाते है। तो RAM के ऊपर जादा बोझ पड जाता है. RAM एक शार्ट टर्म मेमोरी है. जीतने भी ऍप्लिकेशन्स खोला जाता है. ये सब RAM में सेव हो के रेहता है.

इसीलिए RAM के कार्य सैली में धीमापन आजाता है. और मोबाइल हैंग हो जाता है. इसीलिए मोबाइल खरीद ने के समय पे लोग RAM के ऊपर ज्यादा ध्यान देते हैं. जितने ज्यादा कैपेसिटी के RAM होगी उतीनी आसानी से कंप्यूटर  मोबाइल चलेगा। बार बार मोबाइल हैंग होने का डर नहीं रहेगा.

RAM Kya Hai

जीतीनी ज्यादा ऍप्लिकेशन्स एक साथ चलाओगे। उतीनी ज्यादा RAM का इस्तिमाल होगी । और मोबाइल धीमा या फिर हैंग हो जाएगा। तो इसीलिए उपयोगकर्ता को एक साथ कम ऍप्लिकेशन्स को ब्यबहार करना चाहिए। ताकि मोबाइल ठीक रूप से चले। RAM के ऊपर ज्यादा बोझ ना पड़े। आप केई बार देखें होंगे एक समाये पे ज्यादा ऍप्लिकेशन्स ब्यबहार करने से मोबाइल धीमा या फिर हैंग हो जाता है. जब मोबाइल बंद कर देने से।

और दुबारा चालू कर ने मोबाइल ठीक रूप से चल ता है. यहीं आप के मन में सवाल आता है ऐसा क्यूँ होता है. ऐसा इसीलिए होता है। RAM एक अस्थिर मेमोरी है. जब तक कम्प्यूटर या फिर मोबाइल चलता रहेगा तब तक RAM में डाटा सेव होता रेहेता है । जब मोबाइल या फिर कम्प्यूटर बंद हो जाता है.

RAM में जितने भी डाटा होगा सब खाली हो जाता है. इसिलए मोबाइल धीमा या हैंग हो जाने से। जब आप लोगों मोबाइल को बंद करदेते हैं और दुबारा चालू करते हैं तो मोबाइल ठीक रूप से काम करता है.

What is Full form of RAM हिंदी में

Random Accessory Memory

Random Accessory Memory इसे क्यूँ कहा जाता है.

RAM में डाटा और निर्देश cell एक साथ स्टोर हो के रेहता है. प्रत्येक cell कुछ Rows और Columns से मिलकर बनता है. जिसका एक आपने Unique Address होता है. इन Unique Address को सेल पाथ भी कहतें है. CPU इन सेल पाथ से अलग अलग डाटा प्राप्त कर सकता है. जो आपको डाटा चाहिए उस डाटा को सीधे बांछित ब्लॉक से डाटा प्राप्त कर शकता हैं.RAM में उपलध डाटा को Randomly Access क्या जाता है। इसी लिए RAM को Random Accessory Memory कहा जाता है.

RAM के प्रकार

RAM बहुत तरह के आकर के होता है. उसकी दक्ष्यता और गति के हिसाब से बिभिन्न भागों में बटा गया है. RAM के
क्षमता को Mb और Gb में मापा जाता है। RAM के गति को MHz और GHz मापा जाता है.

RAM मुख्यत 2 प्रकार के होते है.
1 Static RAM (SRAM)
2 Dynamic RAM (DRAM)

Static RAM(SRAM) क्या है?

जब तक बिजिली की आपूर्ति रहेगी तब तक RAM में डाटा स्टोर होते रेहेता है। जब बिजिली आपूर्ति बंद हो जाएगी RAM पे स्टोर हुई डाटा खाली हो जाता है . इसीलिए इसको volatile memory भी कहा जाता है. Static memory में बार बार refresh करने की जरुरत नहीं पड़ती. क्यूँ की ये स्तिर मेमोरी होती है. SRAM को बनाने के लिए उसमे ज्यादा पैसे के लागत आती है.

Operating System क्या है? कैसे काम करता है पूरी जानकारी हिंदी में

DCA Course क्या है ? DCA का फुल फॉर्म क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में

Characteristics of Static RAM

बार बार Refresh करने की जरुरत नहीं.
इसकी गति बहुत तेज़ रहता है.
काफी दिनों तक चलता है.
CPU case memory के लिए इस्तिमाल किआ जाता है.
ये बहुत मेहेंगी है.

Dynamic RAM (DRAM) क्या है?

DRAM इसको Dynamic Random Access Memory के नाम से जाना जाता है. इसको बार बार Refresh करना पड़ता है . ताकि डाटा सेव हो के रहे सके. CPU के मुख्य मेमोरी में DRAM को इस्तिमाल किया जाता है. इस में आपने आप का डाटा स्टोर होता रेहता है. CPU से Randomly डाटा Access किआ जा सकता है. DRAM भी volatile होता है. जब तक बिजिली के आपूर्ति रहेगी तब तक डाटा स्टोर रहती है. जब बिजिली की आपूर्ति बंद हो जाती है। तो स्टोर हुआ डाटा खाली हो जाती है.

ज्यादा RAM होने से फायदा क्या है?

ज्यादा RAM का मतलब एक साथ बहुत सारे प्रोग्राम को चालू रख सके। इस से कम्प्यूटर slow ,hang नहीं होगा. कम्प्यूटर उपयोगकर्ता के हिसाब से सुचारु रूप चलता है. उपयोगकर्ता बहुत सारे काम एक ही समये पे बिना कोई बाधा के कर सकतें है.

अधिक कार्यक्रम

कुछ प्रोग्राम ऐसे होते है। जिस प्रोग्राम को चलाने के लिए एक निचित मात्रा के मेमोरी की जरुरत पड़ती है. उस मामले में
उपयोगकर्ता आसानी से उस प्रॉब्लम को हल करता है. और कम्प्यूटर सुचारु रूप से चलता है.

Net browsing

ज्यादा RAM होने से web browser तेजी से लोड होता है. जिसके द्वारा उपयोगकर्ता बहुत सारे web page कम समाये पे ज्यादा खोल के उसकी उपयोग में ला सकता है. Web browser धीमा ,हैंग ये सब नहीं होता है । सुचारु रूप से बहुत आसानी से उपयोगकर्ता net में काम कर पाता है .

Hard Disk क्या है? हार्ड डिस्क का कार्य, पूरी जानकारी हिंदी में

USB Full Form क्या है? यूएसबी के प्रकार जानकारी हिंदी में

आशा करता हूँ RAM Kya Hai? इसके प्रकार और प्रयोग क्या क्या है. कैसे काम करता है. RAM के प्रकार . ये सब इसी article में समझने के ये छोटा सा प्रयास किया गया है. जो आप लोगो को पसंद आया होगा. आप के मन में इस
आर्टिकल बारे में कुछ भी doubts है .या फिर article में और सुधर किया जासकता है. तो कृपया कर के नीचे comment करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here