Home Internet Web Browser क्या है? कैसे काम करता है पूरी जानकारी हिंदी में

Web Browser क्या है? कैसे काम करता है पूरी जानकारी हिंदी में

Web Browser क्या है? Web Browser एक software है. जो Computer,Laptop,Tablet,Smart Phone में install करके Internet में जो content है। उस content को पढ़ने या देखने के लिए Web Browser एक माध्यम है.आज कल हर आदमी Internet का ब्यापक ब्यबहार कर रहा है.

Internet के बिना एक पाल भी जीना बहुत ही मुश्किल हो जाता है. आप जो भी काम internet में करते हैं। maximum काम Web Browser के द्वारा काम किया जाता है. आज काल बहुत से लोग Internet ब्यबहार कर ते है. लेकिन उनमें से ऐसे भी लोग है. जो Web Browser क्या है? Web Browser कैसे काम करता है. इसकी इतिहास किया है. इस की संरचना कैसे हुआ। मालूम नहीं है. ये सब के बारे में आज हम इस article में बिस्तार रूप से चर्चा करेंगे.

Web Browser कैसे काम करता है?

Web Browser एक software application है। Internet में जो content महजूद है। यूजर जो बिसयबस्तु को internet में ढूंडता है. उस बिसयबस्तु को Web Browser यूजर के सामने रख देता है. Web Browser client और सर्वर के बिज़ में संपर्क बनाये रखता है. जो client यानी उपयोगकर्ता जो भी चीज़ Web Browser में ढूंडता है। Web Browser server में जाकर यही बिसयबस्तु को ढूंडता है।

यही बिसयबस्तु मिलजाने पर Web Browser यही बिसयबस्तु को लेके उपोयोगकर्ता के सामने प्रस्तुत कर देता है. ये है Web Browser का मोटा मोटी काम ये है. . ये सुन ने में कहने में जीतना आसान है। बास्तबिक रूप से ये इतीना आसान काम नहीं है. ये WWW internet server का एक प्रणाली है जो दस्ताबेज को सहयोग करती है. ये दस्ताबेज बिशेष रूप से HTML का command के रूप में लिखा जाता है.

Web Browser को समझाने केलिए एक भाषा की जरुरत होती है. उस भासा को http(hyper text transfer protocol) कहा जाता है. http जो web server को बताते है की web page के बिसयबस्तु को format और transmit करना है. http के माध्यम से web client और web server एक दूसरे के जुड़ते हैं.

Internet पर जितने भी Webserver है। जो Website और Webpages का content को रकते हैं. यह सभी server http के protocol को मानते है. तब जेक web browser web server से web page या content को लेक उपभोगता के समुख रख पता है.

Web Browser क्या है

ब्राउज़र का उपयोग क्यों किया जाता है?

वेब ब्राउज़र का प्राथमिक कार्य है HTML को render करना है. जो code वेबपेज को design करने के लिए उपयोग किआ जाता है. हर बार जॉब कोई ब्राउज़र वेब पेजेस load करता है यह HTML को प्रक्रिया करता है. जो webpages होते हैं उसमें बिसयबस्तु Text ,images ,video के रूप में रहता है. उस बिसयबस्तु को उपयोगकता के सामने ब्राउज़र वेबपेजेस को रख देता है.

Web Browser और Web Server के बिच अंतर किया है?

Web Browser एक ऐसा software है जिसके माद्यम से उपोयोगकर्ता अपनी मनपसंद की चीज internet में खोज कर सकता है.

Web browser के माद्यम से उपोयोगकर्ता दस्ताबेज और सेबाओं के लिए server से अनुमति मांगता है.

Web browser के माद्यम से उपोयोगकर्ता एक http के अनुरोध भेजता है और एक http के प्रतिक्रिआ प्राप्त करता है.

Web browser अपनी यहाँ बिभिन्न website का cookies को संगृहीत कर के रखता है. जब तक उपोयोगकर्ता ना delete करे तब तक उस cookies को आपने पास रख ता है.

Web browser उपोयोगकर्ता के computer में install किआ जाता है.

Web server

Web server उपोयोगकर्ता की web browser के द्वारा जो दस्ताबेज या सेबायें के लिए अनुरोध किया जाता है. उसे स्वीकार करता है. उपोयोगकर्ता को अनुमति देता है जबाब देता है.

Web server उपोयोगकर्ता की http अनुरोध को ग्रहण करता है। Http के प्रतिक्रियां को उपोयोगकर्ता के पास भेजता है.

Web server एक ऐसा खेत्रफल है। जहां content provider के content को रखता है. Webpage को संगृहीत ब्यबस्थित करने के लिए एक क्षेत्र प्रदान करता है.

Web server का load limit एक परिभासित सीमा तक कार्य करती है. ये केबल सीमित संख्या के उपोयोगकर्ता के अनुमति को प्रदान करती है. अगर सीमित संख्या से यदा उपयोगकरता ने Web server को मांगने लगती है तो ये crash होजाती है.

Web server एक software है जो web browser उपोयोगकर्ता के अनुरोध को प्रदान करती है.

Web browser की इतिहास ?

WWW शब्द देखते ही मन में ये उतर आजाता है। ये internet से सम्बंधित चीज है. WWW का आविष्कार
Tim Berners -Lee नामक अंग्रेज बैज्ञानिक साल 1990 में किया था। जिन्होंने World Wide Wave नाम से एक
Web browser साल 1991 बनाया था. Berbers -Lee जो पेहेले ब्यक्ति थे जो Web browser बनाया था.

वेब ब्राउज़र के लिस्ट – वेब ब्राउज़र के प्रकार

आज के समय पे बहुत सरे वेब बब्राउज़र है. उन सभी वेब ब्राउज़र का चर्चा करना यहां संभव नहीं है. जो पॉपुलर और
विश्वसनीय हे. उसके बारे में चर्चा करेंगे.

Google Chrome
Mozila Firefox
Microsoft Edge
Safari
Internet Explorer
Opera
Lynx

Google Chrome

Google के द्वारा 2008 में एक Web browser लाया गेयाथा । जो Chrome नाम से बहुत प्रसिद्धि लव किया हुआ है. ये बहुत ही सिंपल और बहुत फ़ास्ट रहेता है. ये Windows ,Linux ,MacOS और Android के लिए उपलध है. Chrome Browser बहुत से भासा को सहयोग करता है. Chrome अपनी उपयोगकर्ताओं की बुकमार्क्स इतिहास और स्तापना को सिंक्रोनीज़ करने की अनुमति देती है. ये OS और Android संस्करण दोनों जगह पे बहुत ही लोकप्रिय है.

Mozila Firefox

Mozila Firefox Browser एक web browser है। जो ज्यादातर लोगो ने Firefox के नाम से जानते है. ये Windows,Linux, Mac Operative system के लिए बनाया गेया है. Firefox एक ओपन सोर्स वेब ब्राउज़र है. जो की बेहद उपोयोगकर्ता की अनुरूप है.

Mozila Firefox को Mozila Foundation और उसकी सहायक कंपनी Mozila Corporation की मिलित सहयोग से बनाया गेया है. Mozila Firefox का Android और ios version भी है। Android ये जादा पॉपुलर नहीं है.

Safari Web Browser

सफारी वेब ब्राउज़र को Apple के द्वारा बिकसित किया गया था. सफारी वेब ब्राउज़र Mac OS और Windows OS के
लिए उपलब्ध है. ये आम लोगो के भीतर ज्यादा लोकप्रिय नहीं है.

Internet Explorer

इंटरनेट एक्स्प्लोरर Microsoft के द्वारा बिकसित किया गया है. Windows OS में ये Internet Explorer default ब्राउज़र में आती है. ये 1995 पहलीबार Windows OS के साथ शुरुआत किया गया था.

Opera Web Browser

Opera Web browser भी एक पुराण Web browser है। ये 1995 में लांच किया गया था. ये वेब ब्राउज़र भी
Windows,Linux,Android,iOs,Mac Os उपलब्ध है. ये मोबाइल संस्करण में भी आता है. Opera Mobile ,Opera Touch,Opera Mini आता है. Opera Mini Web browser मोबाइल उपजोगकर्ता के बिच बहुत ही लोकप्रिय है.

Lynx Web Browser

Lynx Web browser एक cursor-addressable सेल टर्मिनल के ऊपर एक उपयोगी वेब ब्राउज़र है.

Microsoft Edge Web Browser

Microsoft Edge ये Microsoft के द्वारा विकास किया गया एक Web browser है. ऐसे बिशेस रूप से Windows 10 और Xbox One के लिए 2015 लाये थे. उसके बाद 2017 में Android के लिए बिकसित किया गया और Ios ,Mac OS में भी आज काल उपलध है.

वेब ब्राउज़र उपोयोगकर्ता इंटरफेस किया है?

वेब ब्राउज़र अंदर बहुत से ऐसी चीज़ होती है जो हर उपोयोगकर्ता को जानना जरुरी है .

  • Address Bar
  • Home Button
  • Reload Button
  • Back Button
  • Next Button
  • Downloads
  • History
  • Bookmarks
  • New Incognito Window

Address Bar

जॉब उपोयोगकर्ता कोई website का URL जानता है। और सीधे सही url address बार में type कर के
enter कर देता है। तो सीधे यही वेबपेज खुल कर उपोयोगकर्ता के सामने आजायेगी।

Home Button

उपोयोगकर्ता वेब ब्राउज़र के होम बटन क्लीक कर ने वेब ब्राउज़र के होम पेज पर आजायेगी।

Reload Button

उपयोगकर्ता वेब पेज पे जाके mouse का right करे तो Reload Button दिखाई देगी ,उस Reload
Button को क्लिक करने से वेब पेज एक बार फिर से Reload हो जायेगी।

Back Button

उपयोगकर्ता वेब ब्राउज़र के लेफ्ट साइड टॉप पर दो तीर के चिन्न दिखाई देगा एक Back Button और एक
Next Button है. उपयोगकर्ता अगर वेब ब्राउज़र के बैक में जाना हे तो लेफ्ट के तीर को क्लिक करना है। अगर नेक्स्ट में जाना है तो राइट तीर को क्लीक कर के वेब ब्राउज़र के आगे पीछे जा सकता है.

Downloads

उपयोगकर्ता वेब ब्राउज़र में कोई Text Video Image को downloads किआ है तो। उपयोगकर्ता को वेब ब्राउज़र
के right hand side के टॉप corner में तीन dot दिखाई देगा। उस dots को क्लिक करने से downloads दिखाई देगा। वेब ब्राउज़र में जो जो downloads हो चूका है। सभी downloads दिखाई देगा साथ साथ downloads के फोल्डर भी दिखाई देगा.

History

यानी पिछिले समाये से उपयोगकर्ता जो जो वेब ब्राउज़र में जो दिखा होगा वेब पेज ,video ,text जो भी देखा होगा वेब
ब्राउज़र की इतिहास में रहेजाता है. वेब ब्राउज़र के right hand side के टॉप कार्नर पे तीन dots दिखाई देगा। उस तीन dots को क्लिक करने से वेब ब्राउज़र के इतिहास button दिखाई देगा। उस history button को क्लिक कर ने से उपयोगकर्ता जो जो webpages में गेया होगा सब history button क्लिक करने से वेब ब्राउज़र में सब दिखाई देगा.

Bookmarks

वेब ब्राउज़र में एक ऐसा सुबिधा उपयोगकर्ता के लिए उपलब्ध है। अगर उपयोगकर्ता एक वेबसाइट में बार बार जाना पड़ता है तो Bookmarks का काम यहीँ काम आता है. उपयोगकर्ता को बार बार address bar में जा के वेब साइट का URL types कर ने की जरूत नहीं है.

उपयोगकर्ता बार बार ब्यबहार में आने बलि web page खोल के वेब ब्राउज़र के right hand side पे starmark एक चिन्न दिखाई देगा। यह star mark चिन्न को क्लिक करेगा तो यह वेब पेज Bookmarks हो जायेगा.

अगर उपयोगकर्ता को यही वेब पेज खोलना है तो पहले वेब ब्राउज़र के right hand side पे दो forwords बटन दिखाई देगा। उपयोगकर्ता यही बटन क्लिक करेगा तो bookmarks किया हुआ वेब पेज दिखाई देगा। यह क्लिक करेगा तो अपनी वेब पेज खोल जाएगा.

New Incognito Window

उपयोगकर्ता को सुरक्षा चाहिए तो ये ब्यबहार करना जरुरी है । इस में उपयोगकर्ता जो भी काम करेगा यह सब कुछ
New Incognito Window खुला होने तक रहेगा। अगर New Incognito Window closed कर दिया जाता तो। उपयोगकरता के इतिहास delete कर देता है.

आशा करता हूँ Web Browser क्या है? कैसे काम करता है. Web Browser और उसके प्रकार क्या हैं? ये सब इसी
article में समझने के ये छोटा सा प्रयास किया गया है. जो आप लोगो को पसंद आया होगा. आप के मन में इस
आर्टिकल बारे में कुछ भी शक है या फिर article में और सुधर किया जासकता है. तो कृपया कर के नीचे comment करे।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!